गाना / Title: हम चूप हैं के दिल सुन रहे हैं - Hum Chup Hain Ke Dil Sun Rahe Hai

चित्रपट / Film: फासले-(Faasale)

संगीतकार / Music Director: शिव हरी-(Shiv Hari)

गीतकार / Lyricist: शहरयार-(Shaharyar)

गायक / Singer(s): किशोर कुमार-(Kishore Kumar)लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
हम चुप हैं के दिल सुन रहें हैं
धड़कनों को, आहटों को, साँसे रुक सी गई हैं

देखो अब दुनिया को गौर से
पहले से नई, पहले से हसीं
हम तुम को मिलना था, मिल गए
क्या ये आसमां, कौन ये ज़मीं
हम जो देखे, तुमको देखे
साँसे रुक सी गई हैं

लफ्जों में जिन को ना कह सके
आँखो से कहे, होठों से सुने
खुशबू के साये में बैठ के
फूल हम चुने, ख्वाब हम बुने
इस के आगे, कुछ ना सोचे
साँसे रुक सी गई हैं

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
Ham chup hain ke dil sun rahen hain
Dhadkanon ko, ahaton ko, saanse ruk si gi hain

Dekho ab duniya ko gaur se
Pahale se ni, pahale se hasin
Ham tum ko milana tha, mil ge
Kya ye asamaan, kaun ye jmin
Ham jo dekhe, tumako dekhe
Saanse ruk si gi hain

Lafjon men jin ko na kah sake
Ankho se kahe, hothhon se sune
Khushabu ke saaye men baithh ke
Ful ham chune, khwaab ham bune
Is ke age, kuchh na soche
Saanse ruk si gi hain

Related content: