गाना / Title: कोई मेरे माथे की बिंदिया सजा दे रे - Koi Mere Mathe Ki (Palkon Ki Chhaon Mein)

चित्रपट / Film: पलकों की छाँव में-(Palkon Ki Chhaaon Mein)

संगीतकार / Music Director: लक्ष्मीकांत - प्यारेलाल-(Laxmikant-Pyarelal)

गीतकार / Lyricist: गुलजार-(Gulzar)

गायक / Singer(s): लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
घूँघटा गिरा है ज़रा घूँघटा उठा दे
कोई मेरे माथे की बिंदीया सजा दे रे
मैं दुल्हन सी लगती हूँ, दुल्हन बना दे रे

आँखों में रात का काजल लगा के
मैं आँगन में ठंडे सवेरे बिछा दूँ
जो पैरों में मेहंदी सी अगनी लगा दे रे

ना चिठ्ठी ही आयी ना संदेसा आया
हर आहट पे आने का अंदेसा आया
कोई झूठीमूठी किवडीया हिला दे रे

कोई मेरे आँगन में ठहरे ना उतरे 
अँधेरी गली से कई लोग गुजरे 
कोई रुक के तेरी खबरिया सूना दे रे

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
Ghunghata gira hai jra ghunghata uthha de
Koi mere maathe ki bindiya saja de re
Main dulhan si lagati hun, dulhan bana de re

Ankhon men raat ka kaajal laga ke
Main angan men thhnde sawere bichha dun
Jo pairon men mehndi si agani laga de re

Na chithhthhi hi ayi na sndesa aya
Har ahat pe ane ka andesa aya
Koi jhuthhimuthhi kiwadiya hila de re

Koi mere angan men thhahare na utare 
Andheri gali se ki log gujare 
Koi ruk ke teri khabariya suna de re

Related content: