गाना / Title: ऐ दिल तुझे अब उनसे ये कैसी शिकायत है - ai dil tujhe ab unase ye kaisii shikaayat hai

चित्रपट / Film: Shararat (Pakistani-Film)

संगीतकार / Music Director: Deboo Bhattacharya

गीतकार / Lyricist: Masroor Anwar

गायक / Singer(s): Masood Rana

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



ऐ दिल तुझे अब उनसे ये कैसी शिकायत है
वो सामने बैठे हैं काफ़ी ये इनायत है
ऐ दिल तुझे अब उनसे

मत देख उन्हें ऐ दिल, इस तरह मुहब्बत से
इस तरह मुहब्बत से
अफ़साना बना लेंगे लोगों की तो आदत है
ऐ दिल तुझे अब उनसे

गुलशन से जुदा होकर फूलों ने ये जाना है
फूलों ने ये जाना है
इस दुनिया में हँसने की कितनी बड़ी क़ीमत है
ऐ दिल तुझे अब उनसे

शमा मेरे जलने पर इक रोज़ पशेमाँ हो
इक रोज़ पशेमाँ हो
परवाने के सीने में इस बात की हसरत है
ऐ दिल तुझे अब उनसे

( तक़दीर से जब पूछा लुटने का सबब क्या है
लुटने का सबब क्या है ) -२
हँस कर कहा दीवाने, दीवाने
हँस कर कहा दीवाने ये दिल की शरारत है

ऐ दिल तुझे अब उनसे ये कैसी शिकायत है
वो सामने बैठे हैं काफ़ी ये इनायत है
ऐ दिल तुझे अब उनसे



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

ai dil tujhe ab unase ye kaisii shikaayat hai
wo saamane baiThe hai.n kaafii ye inaayat hai
ai dil tujhe ab unase

mat dekh unhe.n ai dil, is tarah muhabbat se
is tarah muhabbat se
afasaanaa banaa le.nge logo.n kii to aadat hai
ai dil tujhe ab unase

gulashan se judaa hokar phuulo.n ne ye jaanaa hai
phuulo.n ne ye jaanaa hai
is duniyaa me.n ha.Nsane kii kitanii ba.Dii qiimat hai
ai dil tujhe ab unase

shamaa mere jalane par ik roz pashemaa.N ho
ik roz pashemaa.N ho
parawaane ke siine me.n is baat kii hasarat hai
ai dil tujhe ab unase

( taqadiir se jab puuchhaa luTane kaa sabab kyaa hai
luTane kaa sabab kyaa hai ) -2
ha.Ns kar kahaa diiwaane, diiwaane
ha.Ns kar kahaa diiwaane ye dil kii sharaarat hai

ai dil tujhe ab unase ye kaisii shikaayat hai
wo saamane baiThe hai.n kaafii ye inaayat hai
ai dil tujhe ab unase