गाना / Title: चमन में रंग-ए-बहार उतरा तो मैंने देखा - chaman me.n ra.ng-e-bahaar utaraa to mai.nne dekhaa

चित्रपट / Film: गैर फ़िल्म-(Non-Film)

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist: Munir Niyazi

गायक / Singer(s): Ghulam Ali

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



चमन में रंग-ए-बहार उतरा
तो मैंने देखा, तो मैंने देखा
नज़र से दिल का ग़ुबार उतरा
तो मैंने देखा, तो मैंने देखा

मैं नीम-शब आसमाँ की वुसत को देखता था
ज़मीं पे वो हुस्न-ए-ज़ार उतरा
तो मैंने देखा, तो मैंने देखा


बड़े वुसूख़ से दुनिया फ़रेब देती है
बड़े ख़ुलूस से हम एतबार करते हैं

गली के बाहर तमाम मंज़र बदल गये थे
जो साया-ए-कू-ए-यार उतरा
तो मैंने देखा, तो मैंने देखा

खुमार-ए-मय में वो चेहरा कुछ और लग रहा था
दम-ए-सहर जब खुमार उतरा
तो मैंने देखा, तो मैंने देखा

इक और दरिया का सामना था 'मुनीर' मुझको
मैं एक दरिया के पार उतरा
तो मैंने देखा, तो मैंने देखा



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

chaman me.n ra.ng-e-bahaar utaraa
to mai.nne dekhaa, to mai.nne dekhaa
nazar se dil kaa Gubaar utaraa
to mai.nne dekhaa, to mai.nne dekhaa

mai.n niim-shab aasamaa.N kii wus_at ko dekhataa thaa
zamii.n pe wo husn-e-zaar utaraa
to mai.nne dekhaa, to mai.nne dekhaa


ba.De wusuuK se duniyaa fareb detii hai
ba.De Kuluus se ham etabaar karate hai.n

galii ke baahar tamaam ma.nzar badal gaye the
jo saayaa-e-kuu-e-yaar utaraa
to mai.nne dekhaa, to mai.nne dekhaa

khumaar-e-may me.n wo cheharaa kuchh aur lag rahaa thaa
dam-e-sahar jab khumaar utaraa
to mai.nne dekhaa, to mai.nne dekhaa

ik aur dariyaa kaa saamanaa thaa 'muniir' mujhako
mai.n ek dariyaa ke paar utaraa
to mai.nne dekhaa, to mai.nne dekhaa