गाना / Title: बग़ैर तेरे कोई दिन रात न जाने मेरे - baGair tere ko_ii din raat na jaane mere

चित्रपट / Film: गैर फ़िल्म-(Non-Film)

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist: Ahmed Faraz

गायक / Singer(s): Ghulam Ali

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



बग़ैर तेरे कोई दिन रात न जाने मेरे
तू कहाँ है मगर ऐ दोस्त पुराने मेरे

शमा की लौ थी कि वो था मगर हिज्र की रात
देर तक रोता रहा कोई सिरहाने मेरे

तू भी ख़ुश्बू है मगर मेरा तजस्सुस बेकार
बर्ग़-ए-आवारा की मानिंद ठिकाने मेरे

ख़ल्क़ की बे-ख़बरी है कि मेरी रुस्वाई
लोग मुझको ही सुनाते हैं फ़साने मेरे

आज इक और बरस बीत गया उनके बग़ैर
जिसके होते हुये होते थे ज़माने मेरे

चारागर यूँ तो बहुत हैं मगर ऐ जान-ए-'फ़राज़'
बग़ैर तेरे कोई हालात न जाने मेरे



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

baGair tere ko_ii din raat na jaane mere
tuu kahaa.N hai magar ai dost puraane mere

shamaa kii lau thii ki wo thaa magar hijr kii raat
der tak rotaa rahaa ko_ii sirahaane mere

tuu bhii Kushbuu hai magar meraa tajassus bekaar
barG-e-aawaaraa kii maani.nd Thikaane mere

Kalq kii be-Kabarii hai ki merii ruswaa_ii
log mujhako hii sunaate hai.n fasaane mere

aaj ik aur baras biit gayaa unake baGair
jisake hote huye hote the zamaane mere

chaaraagar yuu.N to bahut hai.n magar ai jaan-e-'faraaz'
baGair tere ko_ii haalaat na jaane mere