गाना / Title: इक मुसाफ़िर को दुनिया में क्या चाहिए - ik musaafir ko duniyaa me.n kyaa chaahi_e

चित्रपट / Film: Door Ki Awaz

संगीतकार / Music Director: Ravi

गीतकार / Lyricist: Shakeel

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



इक मुसाफ़िर को दुनिया में क्या चाहिए
सिर्फ़ थोड़ी सी दिल में जगह चाहिए
बैठ जाऊँ

ओ मोटे लाला तूने किया है कैसा छल
Ticketतेरा singleमगर तू double-२
खिसक ज़रा प्यारे सरक ज़रा प्यारे -२
ऐसी bodyमें दिल भी बड़ा चाहिए
इक मुसाफ़िर को ...

ओ लम्बी दाढ़ी वाले तू गुस्सा मत कर
हमें भी जगह दे-दे ज़रा ख़ुदा से डर
खिसक ज़रा प्यारे सरक ज़रा प्यारे -२
तेरा photoन तेरा पता चाहिए
इक मुसाफ़िर को ...

हम पर भी कर दो ज़रा इनायत की नज़र
ख़ुशी से कट जाए हमारा भी सफ़र
खिसक ज़रा प्यारे सरक ज़रा प्यारे -२
यूँ किसी का न दिल तोड़ना चाहिए
इक मुसाफ़िर को ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

ik musaafir ko duniyaa me.n kyaa chaahi_e
sirf tho.Dii sii dil me.n jagah chaahi_e
baiTh jaa_uu.N

o moTe laalaa tuune kiyaa hai kaisaa chhal
##Ticket## teraa ##single## magar tuu ##double## -2
khisak zaraa pyaare sarak zaraa pyaare -2
aisii ##body## me.n dil bhii ba.Daa chaahi_e
ik musaafir ko ...

o lambii daa.Dhii vaale tuu gussaa mat kar
hame.n bhii jagah de-de zaraa Kudaa se Dar
khisak zaraa pyaare sarak zaraa pyaare -2
teraa ##photo## na teraa pataa chaahi_e
ik musaafir ko ...

ham par bhii kar do zaraa inaayat kii nazar
Kushii se kaT jaa_e hamaaraa bhii safar
khisak zaraa pyaare sarak zaraa pyaare -2
yuu.N kisii kaa na dil to.Danaa chaahi_e
ik musaafir ko ...