गाना / Title: वक़्त-ए-पीरी शबाब की बातें - waqt-e-piirii shabaab kii baate.n

चित्रपट / Film: गैर फ़िल्म-(Non-Film)

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist: Zauq

गायक / Singer(s): Ghulam Ali

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



वक़्त-ए-पीरी शबाब की बातें
ऐसी हैं जैसे ख़्वाब की बातें

फिर मुझे ले चला उधर देखो
दिल-ए-ख़ाना-खराब की बातें

महजबीं याद है कि भूल गये
वो शब-ए-माहताब की बातें

तुझको रुसवा करेंगी ख़ून-ए-दिल
तेरी ये इज़्तिराब की बातें

सुनते हैं उनको छेड़ छेड़ के हम
उसके मुँह से इताब की बातें

ज़िक्र था जोश-ए-इश्क़ में ऐ 'ज़ौक़'
हम से हों सब्र-ओ-ताब की बातें



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

waqt-e-piirii shabaab kii baate.n
aisii hai.n jaise Kwaab kii baate.n

phir mujhe le chalaa udhar dekho
dil-e-Kaanaa-kharaab kii baate.n

mahajabii.n yaad hai ki bhuul gaye
wo shab-e-maahataab kii baate.n

tujhako rusawaa kare.ngii Kuun-e-dil
terii ye iztiraab kii baate.n

sunate hai.n unako chhe.D chhe.D ke ham
usake mu.Nh se itaab kii baate.n

zikr thaa josh-e-ishq me.n ai 'zauq'
ham se ho.n sabr-o-taab kii baate.n