गाना / Title: अन्धेरी रातों में ... जिसे लोग शहनशाह कहते हैं - andherii raato.n me.n ... jise log shahanashaah kahate hai.n

चित्रपट / Film: Shehanshaah

संगीतकार / Music Director: Amar-Utpal

गीतकार / Lyricist: आनंद बक्षी-(Anand Bakshi)

गायक / Singer(s): किशोर कुमार-(Kishore Kumar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



अन्धेरी रातों में सुनसान राहों पर -२
हर ज़ुल्म मिटाने को एक मसीहा निकलता है
जिसे लोग शहनशाह कहते हैं
अन्धेरी रातों में ...

जैसे निकलता है तीर कमान से -२
देखो ये चला वो निकला वो शान से
उसके ही किस्से सबकी ज़ुबान पे
वो बात है उसकी बातों में
अन्धेरी रातों में ...

ऐसे बहादुर देखे हैं थोड़े -२
ज़ुल्म-ओ-सितम की ज़ंजीर तोड़े
पीछे पड़े तो पीछा न छोड़े
बड़ा है ज़ोर उसके हाथों में
अन्धेरी रातों में ...

शहर की गलियों में वो फिरता है -२
दोस्तों से दोस्त बनकर मिलता है
दुश्मनों के सर पर ऐसे गिरता है
जैसे बिजली गिरे बरसातों में
अन्धेरी रातों में ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

andherii raato.n me.n sunasaan raaho.n par -2
har zulm miTaane ko ek masiihaa nikalataa hai
jise log shahanashaah kahate hai.n
andherii raato.n me.n ...

jaise nikalataa hai tiir kamaan se -2
dekho ye chalaa vo nikalaa vo shaan se
usake hii kisse sabakii zubaan pe
vo baat hai usakii baato.n me.n
andherii raato.n me.n ...

aise bahaadur dekhe hai.n tho.De -2
zulm-o-sitam kii za.njiir to.De
piichhe pa.De to piichhaa na chho.De
ba.Daa hai zor usake haatho.n me.n
andherii raato.n me.n ...

shahar kii galiyo.n me.n vo phirataa hai -2
dosto.n se dost banakar milataa hai
dushmano.n ke sar par aise girataa hai
jaise bijalii gire barasaato.n me.n
andherii raato.n me.n ...