गाना / Title: जब रात की तन्हाई दिल बन के धड़कती है - jab raat kii tanhaa_ii dil ban ke dha.Dakatii hai

चित्रपट / Film: Aabshaar-E-Ghazal (Non-Film)

संगीतकार / Music Director: हरीहरन-(Hariharan)

गीतकार / Lyricist: Bashir Badr

गायक / Singer(s): आशा भोसले-(Asha)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



जब रात की तन्हाई दिल बन के धड़कती है
यादों के दरीचे में चिलमन सी सरकती है

यूँ प्यार नहीं छुपता पलकों के झुकाने से
आँखों के लिफ़ाफ़ों में तहरीर चमकती है

ख़ुश-रंग परिंदों के लौट आने के दिन आये
बिछड़े हुये मिलते हैं जब बर्क पिघलती है

शोहरत की बुलन्दी भी पल भर का तमाशा है
जिस डाल पे बैठे हो वो टूट भी सकती है



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

jab raat kii tanhaa_ii dil ban ke dha.Dakatii hai
yaado.n ke dariiche me.n chilaman sii sarakatii hai

yuu.N pyaar nahii.n chhupataa palako.n ke jhukaane se
aa.Nkho.n ke lifaafo.n me.n tahariir chamakatii hai

Kush-ra.ng pari.ndo.n ke lauT aane ke din aaye
bichha.De huye milate hai.n jab bark pighalatii hai

shoharat kii bulandii bhii pal bhar kaa tamaashaa hai
jis Daal pe baiThe ho wo TuuT bhii sakatii hai