गाना / Title: ख़ातिर से या लिहाज़ से मैं मान तो गया - Kaatir se yaa lihaaz se mai.n maan to gayaa

चित्रपट / Film: Yaadgar Ghazlen (Non-Film)

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist: Daag

गायक / Singer(s): Ghulam Ali

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



ख़ातिर से या लिहाज़ से मैं मान तो गया
झूठी क़सम से आपका ईमान तो गया

दिल ले के मुफ़्त कहते हैं कुछ काम का नहीं
उल्टी शिक़ायतें रहीं एहसान तो गया

अफ़्शा-ए-राज़-ए-इश्क़ में गो जिल्लतें हुईं
लेकिन उसे जता तो दिया जान तो गया

होश-ओ-हवास-ओ-ताब-ओ-तवाँ 'दाग़' जा चुके
अब हम भी जाने वाले हैं सामान तो गया



डरता हूँ देख कर दिल-ए-बेआरज़ू को मैं
सुनसान घर ये क्यूँ न हो मेहमान तो गया

क्या आई राहत आई जो कुंज-ए-मज़ार में
वो वलवला वो शौक़ वो अरमान तो गया

देखा है बुतकदे में जो ऐ शेख कुछ न पूछ
ईमान की तो ये है कि ईमान तो गया

गो नामाबर से कुछ न हुआ पर हज़ार शुक्र
मुझको वो मेरे नाम से पहचान तो गया

बज़्म-ए-उदू में सूरत-ए-परवाना मेरा दिल
गो रश्क़ से जला तेरे क़ुर्बान तो गया



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

Kaatir se yaa lihaaz se mai.n maan to gayaa
jhuuThii qasam se aapakaa iimaan to gayaa

dil le ke muft kahate hai.n kuchh kaam kaa nahii.n
ulTii shiqaayate.n rahii.n ehasaan to gayaa

afshaa-e-raaz-e-ishq me.n go jillate.n hu_ii.n
lekin use jataa to diyaa jaan to gayaa

hosh-o-hawaas-o-taab-o-tawaa.N 'daaG' jaa chuke
ab ham bhii jaane waale hai.n saamaan to gayaa



Darataa huu.N dekh kar dil-e-be_aarazuu ko mai.n
sunasaan ghar ye kyuu.N na ho mehamaan to gayaa

kyaa aa_ii raahat aa_ii jo ku.nj-e-mazaar me.n
wo walawalaa wo shauq wo aramaan to gayaa

dekhaa hai butakade me.n jo ai shekh kuchh na puuchh
iimaan kii to ye hai ki iimaan to gayaa

go naamaabar se kuchh na hu_aa par hazaar shukr
mujhako wo mere naam se pahachaan to gayaa

bazm-e-uduu me.n suurat-e-parawaanaa meraa dil
go rashq se jalaa tere qurbaan to gayaa