गाना / Title: खुली जो आँख तो वो था न वो ज़माना था - khulii jo aa.Nkh to wo thaa na wo zamaanaa thaa

चित्रपट / Film: Kehna Usey (Non-Film)

संगीतकार / Music Director: Mehdi Hasan

गीतकार / Lyricist: Farhat Shahzad

गायक / Singer(s): Mehdi Hasan

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



खुली जो आँख तो वो था न वो ज़माना था
दहकती आग थी तन्हाई थी फ़साना था

ग़मों ने बाँट लिया है मुझे यूँ आपस में
कि जैसे मैं कोई लूटा हुआ ख़ज़ाना था

जुदा है शाख़ से गुल-रुत से आशियाने से
कली का जुर्म घड़ी भर का मुस्कुराना था

ये क्या कि चन्द ही क़दमों में थक के बैठ गये
तुम्हें तो साथ मेरा दूर तक निभाना था

मुझे जो मेरे लहू में डबो के गुज़रा है
वो कोई ग़ैर नहीं यार एक पुराना था

ख़ुद अपने हाथ से 'शहज़ाद' उसको काट दिया
कि जिस दरख़्त की टहनी पे आशियाना था



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

khulii jo aa.Nkh to wo thaa na wo zamaanaa thaa
dahakatii aag thii tanhaa_ii thii fasaanaa thaa

Gamo.n ne baa.NT liyaa hai mujhe yuu.N aapas me.n
ki jaise mai.n ko_ii luuTaa hu_aa Kazaanaa thaa

judaa hai shaaK se gul-rut se aashiyaane se
kalii kaa jurm gha.Dii bhar kaa muskuraanaa thaa

ye kyaa ki chand hii qadamo.n me.n thak ke baiTh gaye
tumhe.n to saath meraa duur tak nibhaanaa thaa

mujhe jo mere lahuu me.n Dabo ke guzaraa hai
wo ko_ii Gair nahii.n yaar ek puraanaa thaa

Kud apane haath se 'shahazaad' usako kaaT diyaa
ki jis daraKt kii Tahanii pe aashiyaanaa thaa