गाना / Title: रस्म-ए-उल्फ़त को निभाएं तो निभाएं कैसे - rasm-e-ulfat ko nibhaae.n to nibhaae.n kaise

चित्रपट / Film: Dil Ki Rahen

संगीतकार / Music Director: मदन मोहन-(Madan Mohan)

गीतकार / Lyricist: Naqsh Lyallpuri

गायक / Singer(s): लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



रस्म-ए-उल्फ़त को निभाएं तो निभाएं कैसे
हर तरफ़ आग है दामन को बचाएं कैसे
रस्म-ए-उल्फ़त को निभाएं...

दिल की राहों में उठते हैं जो दुनिया वाले	-२
कोई कह दे के वोह दीवार गिराएं कैसे		-२
रस्म-ए-उल्फ़त को निभाएं...

दर्द में डूबे हुए नग़मे हज़ारों हैं मगर	-२
साज़-ए-दिल टूट गया हो तो सुनाए कैसे		-२
रस्म-ए-उल्फ़त को निभाएं...

बोझ होता जो ग़मों का तो उठा भी लेते		-२
ज़िंदगी बोझ बनी हो तो उठाएं कैसे		-२
रस्म-ए-उल्फ़त को निभाएं...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

rasm-e-ulfat ko nibhaae.n to nibhaae.n kaise
har taraf aag hai daaman ko bachaae.n kaise
rasm-e-ulfat ko nibhaae.n...

dil kii raaho.n me.n uThate hai.n jo duniyaa vaale	-2
koii kah de ke voh diivaar giraae.n kaise		-2
rasm-e-ulfat ko nibhaae.n...

dard me.n Duube hue naGame hazaaro.n hai.n magar	-2
saaz-e-dil TuuT gayaa ho to sunaae kaise		-2
rasm-e-ulfat ko nibhaae.n...

bojh hotaa jo Gamo.n kaa to uThaa bhii lete		-2
zi.ndagii bojh banii ho to uThaae.n kaise		-2
rasm-e-ulfat ko nibhaae.n...