गाना / Title: आज की रात बड़ी शोख बड़ी नटखट है - aaj kii raat ba.Dii shokh ba.Dii naTakhaT hai

चित्रपट / Film: Nai Umr Ki Nai Fasal

संगीतकार / Music Director: Roshan

गीतकार / Lyricist: Neeraj

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)आशा भोसले-(Asha)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          


Rafi solo 
आज की रात बड़ी शोख बड़ी नटखट है
आज तो तेरे बिना नींद न आयेगी

अब तो तेरे ही यहाँ आने का ये मौसम है
अब तबीयत न ख़यालों से बहल पायेगी
देख वो छत पे उतर आयी है सावन की घटा
दे रही द्वार पे आवाज़ खड़ी पुरवाई
बिजली रह रह के पहाड़ं पे चमक उठती है
सूनी आँखों में कोई ख़्वाब ले ज्यों अंगड़ाई
कैसे समझाऊँ?
कैसे समझाऊँ कि इस वक़्त का मतलब क्या है
दिल की है बात
हो दिल की है बात न होंठों से कही जायेगी
आज तो तेरे बिना नींद नहीं आयेगी थ्रेएदोत्स

ये भटकते हुए जुगुनू ये दिये आवारा
भीगते पेड़ों पे बुझ-बुझ के चमक उठते हैं
तेरे आँचल में टके सलमें सितारे जैसे
मुझ से मिलने को बिना बात दमक उठते हैं
सारा आलम
सारा आलम है गिरफ़्तार तेरे हुस्न में जब
मुझसे ही कैसे
हो, मुझसे ही कैसे ये बरसात सही जायेगी
आज तो तेरे बिना नींद नहीं आयेगी थ्रेएदोत्स
रात रानी की ये भीनी सी नशीली खुशबू
आ रही है के जो छन छन के घनी डालों से
ऐसा लगता है किसी ढीठ झखोरे से लिपट
खेल आयी है तेरे उलझे हुए बालों से
और बेज़ार
और बेज़ार न कर, मेरे तड़पते दिल को
ऐसी रंगीन
हो, ऐसी रंगीन ग़ज़ल रात न फिर गायेगी
आज तो तेरे बिना नींद नहीं आयेगी थ्रेएदोत्स

Asha - Rafi Duet 
आ: आज की रात बड़ी शोख बड़ी नटखट है
    आज तो तेरे बिना नींद नहीं आयेगी
    अब तो तेरे ही यहाँ आने का ये मौसम है
    अब तबीयत न ख़यालों से बहल पायेगी

    हाय पानी की ये रिमझिम ये खुलेदार फुहार
    ऐसे नस नस में तेरी चाह जगा जाती है
    जैसे पिंजरे में किसी क़ैद पड़े पंछी को
    अपनी आज़ाद उड़ानों की याद आती है
    अब तो आ जाओ
    अब तो आ जाओ मेरे माँग के सिन्दूर सुहाग
    साँस तेरी है
    साँस तेरी है तेरे नाम पे मिट जायेगी
    आज तो तेरे बिना नींद नहीं आयेगी थ्रेएदोत्स

    ऐसी ही रात तो वो थी कि तेरी नज़रों ने
    मुझे पहनाया था जब प्यार के कपड़ों का लिबास
    और उस रात भी ऐसी ही शराबी थी फ़िज़ा
    जब तेरी बाहों में महकी थी मेरी साँस-ओ-अदा (?)
    और अब ऐसी
    और अब ऐसी जवाँ रुत में अकेली मैं हूँ
    आ जा वरना
    आ जा वरना ये शमा काँप के बुझ जायेगी
    आज तो तेरे बिना नींद नहीं आयेगी थ्रेएदोत्स

र: पर ठहर वो जो वहाँ
    पर ठहर वो जो वहाँ लेटे हैं फ़ुट्पाथों पर
    लाश भी जिनके कफ़न तक न यहाँ पाती है
    और वो झोंपड़े छत भी न है सर पर जिन के
    छाते छप्पर ही जहाँ ज़िंदगी सो जाती है
    पहले इन सब के लिये
    पहले इन सब के लिये एक इमारत गढ़ लूँ
    फिर तेरी माँग
    फिर तेरी माँग सितारों से भरी जायेगी

आ: आज तो तेरे बिना नींद नहीं आयेगी थ्रेएदोत्स


        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      
## Rafi solo ##
aaj kii raat ba.Dii shokh ba.Dii naTakhaT hai
aaj to tere binaa nii.nd na aayegii

ab to tere hii yahaa.N aane kaa ye mausam hai
ab tabiiyat na Kayaalo.n se bahal paayegii
dekh vo chhat pe utar aayii hai saavan kii ghaTaa
de rahii dvaar pe aavaaz kha.Dii puravaaii
bijalii rah rah ke pahaa.D.n pe chamak uThatii hai
suunii aa.Nkho.n me.n koii Kvaab le jyo.n a.nga.Daaii
kaise samajhaa_uu.N?
kaise samajhaa_uu.N ki is vaqt kaa matalab kyaa hai
dil kii hai baat
ho dil kii hai baat na ho.nTho.n se kahii jaayegii
aaj to tere binaa nii.nd nahii.n aayegii threedots

ye bhaTakate hue jugunuu ye diye aavaaraa
bhiigate pe.Do.n pe bujh-bujh ke chamak uThate hai.n
tere aa.Nchal me.n Take salame.n sitaare jaise
mujh se milane ko binaa baat damak uThate hai.n
saaraa aalam
saaraa aalam hai giraftaar tere husn me.n jab
mujhase hii kaise
ho, mujhase hii kaise ye barasaat sahii jaayegii
aaj to tere binaa nii.nd nahii.n aayegii threedots
raat raanii kii ye bhiinii sii nashiilii khushabuu
aa rahii hai ke jo chhan chhan ke ghanii Daalo.n se
aisaa lagataa hai kisii DhiiTh jhakhore se lipaT
khel aayii hai tere ulajhe hue baalo.n se
aur bezaar
aur bezaar na kar, mere ta.Dapate dil ko
aisii ra.ngiin
ho, aisii ra.ngiin Gazal raat na phir gaayegii
aaj to tere binaa nii.nd nahii.n aayegii threedots

## Asha - Rafi Duet ##
aa: aaj kii raat ba.Dii shokh ba.Dii naTakhaT hai
    aaj to tere binaa nii.nd nahii.n aayegii
    ab to tere hii yahaa.N aane kaa ye mausam hai
    ab tabiiyat na Kayaalo.n se bahal paayegii

    haay paanii kii ye rimajhim ye khuledaar phuhaar
    aise nas nas me.n terii chaah jagaa jaatii hai
    jaise pi.njare me.n kisii qaid pa.De pa.nchhii ko
    apanii aazaad u.Daano.n kii yaad aatii hai
    ab to aa jaao
    ab to aa jaao mere maa.Ng ke sinduur suhaag
    saa.Ns terii hai
    saa.Ns terii hai tere naam pe miT jaayegii
    aaj to tere binaa nii.nd nahii.n aayegii threedots

    aisii hii raat to vo thii ki terii nazaro.n ne
    mujhe pahanaayaa thaa jab pyaar ke kapa.Do.n kaa libaas
    aur us raat bhii aisii hii sharaabii thii fizaa
    jab terii baaho.n me.n mahakii thii merii saa.Ns-o-adaa (?)
    aur ab aisii
    aur ab aisii javaa.N rut me.n akelii mai.n huu.N
    aa jaa varanaa
    aa jaa varanaa ye shamaa kaa.Np ke bujh jaayegii
    aaj to tere binaa nii.nd nahii.n aayegii threedots

ra: par Thahar vo jo vahaa.N
    par Thahar vo jo vahaa.N leTe hai.n fuT_paatho.n par
    laash bhii jinake kafan tak na yahaa.N paatii hai
    aur vo jho.npa.De chhat bhii na hai sar par jin ke
    chhaate chhappar hii jahaa.N zi.ndagii so jaatii hai
    pahale in sab ke liye
    pahale in sab ke liye ek imaarat ga.Dh luu.N
    phir terii maa.Ng
    phir terii maa.Ng sitaaro.n se bharii jaayegii

aa: aaj to tere binaa nii.nd nahii.n aayegii threedots