गाना / Title: रातों के साये घने जब बोझ दिल पर बने - raato.n ke saaye ghane jab bojh dil par bane

चित्रपट / Film: Annadata

संगीतकार / Music Director: Salil Choudhary

गीतकार / Lyricist: Yogesh

गायक / Singer(s): लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



(रातों के साये घने जब बोझ दिल पर बने
 न तो जले बाती न हो कोई साथी - २
 फिर भी न डर अगर बुझें दिये
 सहर तो है तेरे लिये)			- २

(जब भी मुझे कभी कोई जो ग़म घेरे
लगता है होंगे नहीं सपने यह पूरे मेरे) - २
कहता है दिल मुझको माना हैं ग़म तुझको
फिर भी न डर अगर बुझें दिये
सहर तो है तेरे लिये

(जब न चमन खिले मेरा बहारों में
जब डूबने मैं लगूँ रातों की मजधारों में) - २
मायूस मन डोले पर यह गगन बोले
फिर भी न डर अगर बुझें दिये
सहर तो है तेरे लिये

(जब ज़िन्दगी किसी तरह बहलती नहीं
खामोशियों से भरी जब रात ढलती नहीं) - २
तब मुस्कुराऊँ मैं यह गीत गाऊँ मैं
फिर भी न डर अगर बुझें दिये
सहर तो है तेरे लिये

रातों के साये घने जब बोझ दिल पर बने
न तो जलें बाती न हो कोई साथी - २
फिर भी न डर अगर बुझें दिये
सहर तो है तेरे लिये



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

(raato.n ke saaye ghane jab bojh dil par bane
 na to jale baatii na ho koii saathii - 2
 phir bhii na Dar agar bujhe.n diye
 sahar to hai tere liye)			- 2

(jab bhii mujhe kabhii koii jo Gam ghere
lagataa hai ho.nge nahii.n sapane yah puure mere) - 2
kahataa hai dil mujhako maanaa hai.n Gam tujhako
phir bhii na Dar agar bujhe.n diye
sahar to hai tere liye

(jab na chaman khile meraa bahaaro.n me.n
jab Duubane mai.n laguu.N raato.n kii majadhaaro.n me.n) - 2
maayuus man Dole par yah gagan bole
phir bhii na Dar agar bujhe.n diye
sahar to hai tere liye

(jab zindagii kisii tarah bahalatii nahii.n
khaamoshiyo.n se bharii jab raat Dhalatii nahii.n) - 2
tab muskuraauu.N mai.n yah giit gaauu.N mai.n
phir bhii na Dar agar bujhe.n diye
sahar to hai tere liye

raato.n ke saaye ghane jab bojh dil par bane
na to jale.n baatii na ho koii saathii - 2
phir bhii na Dar agar bujhe.n diye
sahar to hai tere liye