गाना / Title: जियेंगे जब तलक हम ... मैंने क्या किया - jiye.nge jab talak ham ... mai.nne kyaa kiyaa

चित्रपट / Film: Kaali Ghataa

संगीतकार / Music Director: शंकर - जयकिशन-(Shankar-Jaikishan)

गीतकार / Lyricist: हसरत-(Hasrat)

गायक / Singer(s): लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



जियेंगे जब तलक हम उनकी बातें याद आयेंगी
ख़ुशी की छाँव में गुज़री वो रातें याद आयेंगी

( मैंने क्या किया सितम ये मैंने क्या किया
इक साथी मिला था उलफ़त का उसको भी खो दिया ) -२
मैंने क्या किया

खोई हुई किसी की वो सूरत नज़र में है
दिल में है ज़ख़्म दाग़-ए-मोहब्बत जिगर में है -२
एक चाहने वाले को मैंने बदला क्या दिया

मैंने क्या किया सितम ये मैंने क्या किया
इक साथी मिला था उलफ़त का उसको भी खो दिया
मैंने क्या किया

चुभने लगी है अब तो
चुभने लगी है अब तो इन आँखों में नींद भी -२
हाथों से अपने लूट ली अपनी ही ज़िंदगी -२
रोते हैं उनकी याद में क़िसमत से क्या गिला

मैंने क्या किया सितम ये मैंने क्या किया
इक साथी मिला था उलफ़त का उसको भी खो दिया
मैंने क्या किया

दिल की ये आरज़ू है फिर आहें भरा करें
उनको बिठा के सामने बातें किया करें -२
रूठा है कोई दर्द मेरे दिल में रह गया

मैंने क्या किया सितम ये मैंने क्या किया
इक साथी मिला था उलफ़त का उसको भी खो दिया
मैंने क्या किया



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

jiye.nge jab talak ham unakii baate.n yaad aaye.ngii
Kushii kii chhaa.Nv me.n guzarii wo raate.n yaad aaye.ngii

( mai.nne kyaa kiyaa sitam ye mai.nne kyaa kiyaa
ik saathii milaa thaa ulafat kaa usako bhii kho diyaa ) -2
mai.nne kyaa kiyaa

kho_ii hu_ii kisii kii wo suurat nazar me.n hai
dil me.n hai zaKm daaG-e-mohabbat jigar me.n hai -2
ek chaahane waale ko mai.nne badalaa kyaa diyaa

mai.nne kyaa kiyaa sitam ye mai.nne kyaa kiyaa
ik saathii milaa thaa ulafat kaa usako bhii kho diyaa
mai.nne kyaa kiyaa

chubhane lagii hai ab to
chubhane lagii hai ab to in aa.Nkho.n me.n nii.nd bhii -2
haatho.n se apane luuT lii apanii hii zi.ndagii -2
rote hai.n unakii yaad me.n qisamat se kyaa gilaa

mai.nne kyaa kiyaa sitam ye mai.nne kyaa kiyaa
ik saathii milaa thaa ulafat kaa usako bhii kho diyaa
mai.nne kyaa kiyaa

dil kii ye aarazuu hai phir aahe.n bharaa kare.n
unako biThaa ke saamane baate.n kiyaa kare.n -2
ruuThaa hai ko_ii dard mere dil me.n rah gayaa

mai.nne kyaa kiyaa sitam ye mai.nne kyaa kiyaa
ik saathii milaa thaa ulafat kaa usako bhii kho diyaa
mai.nne kyaa kiyaa