गाना / Title: तुम मुझे भूल भी जाओ तो ये हक़ है तुमको - tum mujhe bhuul bhii jaao to ye haq hai tumako

चित्रपट / Film: Didi

संगीतकार / Music Director: Sudha Malhotra

गीतकार / Lyricist: साहिर-(Sahir)

गायक / Singer(s): मुकेश-(Mukesh)Sudha Malhotra

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          

 

सुधा: तुम मुझे भूल भी जाओ तो ये हक़ है तुमको
मेरी बात और है मैंने तो मुहब्बत की है

मेरे दिल की मेरे जज़बात की कीमत क्या है
उलझे-उलझे से ख्यालात की कीमत क्या है
मैंने क्यूं प्यार किया तुमने न क्यूं प्यार किया
इन परेशान सवालात कि कीमत क्या है
तुम जो ये भी न बताओ तो ये हक़ है तुमको
मेरी बात और है मैंने तो मुहब्बत की है
तुम मुझे भूल भी जाओ तो ये हक़ है तुमको

मुकेश: ज़िन्दगी सिर्फ़ मुहब्बत नहीं कुछ और भी है
ज़ुल्फ़-ओ-रुख़सार की जन्नत नहीं कुछ और भी है
भूख और प्यास की मारी हुई इस दुनिया में
इश्क़ ही एक हक़ीकत नहीं कुछ और भी है
तुम अगर आँख चुराओ तो ये हक़ है तुमको
मैंने तुमसे ही नहीं सबसे मुहब्बत की है
तुम अगर आँख चुराओ तो ये हक़ है तुमको

सुधा: तुमको दुनिया के ग़म-ओ-दर्द से फ़ुरसत ना सही
सबसे उलफ़त सही मुझसे ही मुहब्बत ना सही
मैं तुम्हारी हूँ यही मेरे लिये क्या कम है
तुम मेरे होके रहो ये मेरी क़िस्मत ना सही
और भी दिल को जलाओ ये हक़ है तुमको
मेरी बात और है मैंने तो मुहब्बत की है
तुम मुझे भूल भी जाओ तो ये हक़ है तुमको



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
       

sudhA: tum mujhe bhUl bhI jAo to ye haq hai tumako
merI bAt aur hai mai.nne to muhabbat kI hai

mere dil kI mere jazabAt kI kImat kyA hai
ulajhe-ulajhe se khyAlAt kI kImat kyA hai
mai.nne kyU.n pyAr kiyA tumane na kyU.n pyAr kiyA
in pareshAn savAlAt ki kImat kyA hai
tum jo ye bhI na batAo to ye haq hai tumako
merI bAt aur hai mai.nne to muhabbat kI hai
tum mujhe bhUl bhI jAo to ye haq hai tumako

mukesh: zindagI sirf muhabbat nahI.n kuchh aur bhI hai
zulf-o-ruKasAr kI jannat nahI.n kuchh aur bhI hai
bhUkh aur pyAs kI mArI huI is duniyA me.n
ishq hI ek haqIkat nahI.n kuchh aur bhI hai
tum agar A.Nkh churAo to ye haq hai tumako
mai.nne tumase hI nahI.n sabase muhabbat kI hai
tum agar A.Nkh churAo to ye haq hai tumako

sudhA: tumako duniyA ke Gam-o-dard se furasat naa sahI
sabase ulafat sahI mujhase hI muhabbat nA sahI
mai.n tumhArI hU.N yahI mere liye kyA kam hai
tum mere hoke raho ye merI qismat nA sahI
aur bhI dil ko jalAo ye haq hai tumako
merI bAt aur hai mai.nne to muhabbat kI hai
tum mujhe bhUl bhI jAo to ye haq hai tumako