गाना / Title: आहें न भरीं शिकवे न किए - aahe.n na bharii.n shikave na kie

चित्रपट / Film: Zeenat

संगीतकार / Music Director: Mir Sahib

गीतकार / Lyricist: Nakshab

गायक / Singer(s): NoorjehanZohrabai AmbalewaliKalyani

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



आहें न भरीं शिकवे न किए
कुछ भी न ज़बां से काम लिया
इस दिल को पकड़ कर बैठ गए
हाथों से कलेजा थाम लिया

पूछा जो किसी ने हाल तो हम
कुछ कह न सके कुछ कह भी गए
रोके तो बहुत आँसू लेकिन
कुछ रुक भी गए कुछ बह भी गए
अफ़्साना कहा और लब न हिले
अश्कों से जहाँ का काम लिया

रोने से भला क्या दिल रुकता
दुनिया को और तड़पाता
सच पूछिये ये तो ख़ैर हुई
महफ़िल में तमाशा बन जाता
कुछ आप अदाएं रोक गए
कुछ ज़ब्त से हम ने काम लिया

वो लाख तुम्हारे ज़ुल्म सहे
पर आँख से आँसू बह न सका
बीमार-ए-मोहब्बत ऐ नख़शब
कुछ और तो मुँह से कह न सका
इक ठण्डी सी लम्बी आह भरी
चुपके से किसी का नाम लिया

आहें न भरीं ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

aahe.n na bharii.n shikave na kie
kuchh bhii na zabaa.n se kaam liyaa
is dil ko paka.D kar baiTh gae
haatho.n se kalejaa thaam liyaa

puuchhaa jo kisii ne haal to ham
kuchh kah na sake kuchh kah bhii gae
roke to bahut aa.Nsuu lekin
kuchh ruk bhii gae kuchh bah bhii gae
afsaanaa kahaa aur lab na hile
ashko.n se jahaa.N kaa kaam liyaa

rone se bhalaa kyaa dil rukataa
duniyaa ko aur ta.Dapaataa
sach puuchhiye ye to Kair huii
mahafil me.n tamaashaa ban jaataa
kuchh aap adaae.n rok gae
kuchh zabt se ham ne kaam liyaa

vo laakh tumhaare zulm sahe
par aa.Nkh se aa.Nsuu bah na sakaa
biimaar-e-mohabbat ai naKashab
kuchh aur to mu.Nh se kah na sakaa
ik ThaNDii sii lambii aah bharii
chupake se kisii kaa naam liyaa

aahe.n na bharii.n ...