गाना / Title: अब कोई गुलशन ना उजड़े अब वतन आज़ाद है - ab koii gulashan naa uja.De ab vatan aazaad hai

चित्रपट / Film: Mujhe Jeene Do

संगीतकार / Music Director: Jaidev

गीतकार / Lyricist: साहिर-(Sahir)

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)chorus

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



अब कोई गुलशन ना उजड़े अब वतन आज़ाद है
रूह गंगा की हिमालय का बदन आज़ाद है

खेतियाँ सोना उगाएं, वादियाँ मोती लुटाएं
आज गौतम की ज़मीं, तुलसी का बन आज़ाद है

मंदिरों में शंख बाजे, मस्जिदों में हो अज़ां
शेख का धर्म और दीन-ए-बरहमन आज़ाद है

लूट कैसी भी हो अब इस देश में रहने न पाए
आज सबके वास्ते धरती का धन आज़ाद है



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

ab koI gulashan naa uja.De ab vatan aazaad hai
ruuh ga.ngaa kii himaalay kaa badan aazaad hai

khetiyaa.N sonaa ugaae.n, vaadiyaa.N motii luTaae.n
aaj gautam kii zamii.n, tulasii kaa ban aazaad hai

ma.ndiro.n me.n sha.nkh baaje, masjido.n me.n ho azaa.n
shekh kaa dharm aur diin-e-barahaman aazaad hai

luuT kaisii bhii ho ab is desh me.n rahane na paae
aaj sabake vaaste dharatii kaa dhan aazaad hai