गाना / Title: न तो कारवां की तलाश है (क़व्वाली) - na to kaaravaa.n kii talaash hai (qavvaalii)

चित्रपट / Film: Barsaat Ki Raat

संगीतकार / Music Director: Roshan

गीतकार / Lyricist: साहिर-(Sahir)

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)Manna Deआशा भोसले-(Asha)S D BatishSudha Malhotra

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



ना तो कारवाँ की तलाश है, ना तो हमसफ़र की तलाश है
मेरे शौक़-ए-खाना खराब को, तेरी रहगुज़र की तलाश है

मेरे नामुराद जुनून का है इलाज कोई तो मौत है
जो दवा के नाम पे ज़हर दे उसी चारागर की तलाश है

तेरा इश्क़ है मेरी आरज़ू, तेरा इश्क़ है मेरी आबरू
दिल इश्क़ जिस्म इश्क़ है और जान इश्क़ है
ईमान की जो पूछो तो ईमान इश्क़ है
तेरा इश्क़ है मेरी आरज़ू, तेरा इश्क़ है मेरी आबरू,
तेरा इश्क़ मैं कैसे छोड़ दूँ, मेरी उम्र भर की तलाश है

इश्क़ इश्क़ तेरा इश्क़ इश्क़ ...

ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़,  ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़

जाँसोज़ की हालत को जाँसोज़ ही समझेगा
मैं शमा से कहता हूँ महफ़िल से नहीं कहता क्योंकि
ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़,  ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़

सहर तक सबका है अंजाम जल कर खाक हो जाना,
भरी महफ़िल में कोई शम्मा या परवाना हो जाए क्योंकि
ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़,  ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़

वहशत-ए-दिल रस्म-ओ-दीदार से रोकी ना गई
किसी खंजर, किसी तलवार से रोकी ना गई
इश्क़ मजनू की वो आवाज़ है जिसके आगे
कोई लैला किसी दीवार से रोकी ना गई, क्योंकि
ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़,  ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़

वो हँसके अगर माँगें तो हम जान भी देदें,
हाँ ये जान तो क्या चीज़ है ईमान भी देदें क्योंकि
ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़,  ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़

नाज़-ओ-अंदाज़ से कहते हैं कि जीना होगा,
ज़हर भी देते हैं तो कहते हैं कि पीना होगा
जब मैं पीता हूँ तो कहतें है कि मरता भी नहीं,
जब मैं मरता हूँ तो कहते हैं कि जीना होगा
ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़,  ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़

मज़हब-ए-इश्क़ की हर रस्म कड़ी होती है,
हर कदम पर कोई दीवार खड़ी होती है
इश्क़ आज़ाद है, हिंदू ना मुसलमान है इश्क़,
आप ही धमर् है और आप ही ईमान है इश्क़
जिससे आगाह नही शेख-ओ-बरहामन दोनो,
उस हक़ीक़त का गरजता हुआ ऐलान है इश्क़

इश्क़ ना पुच्छे दीन धरम नू, इश्क़ ना पुच्छे जाताँ
इश्क़ दे हाथों गरम लहू विच, डुबियां लख बराताँ   
के ... दे इश्क़	
ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़,  ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़

राह उल्फ़त की कठिन है इसे आसाँ ना समझ
ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़,  ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़

बहुत कठिन है डगर पनघट की
अब क्या भर लाऊँ मै जमुना से मटकी
मै जो चली जल जमुना भरन को
देखो सखी जी मै जो चली जल जमुना भरन को
नंदकिशोर मोहे रोके झाड़ों तो
क्या भर लाऊँ मै जमुना से मटकी
अब लाज राखो मोरे घूँघट पट की

जब जब कृष्ण की बंसी बाजी, निकली राधा सज के
जान अजान का मान भुला के, लोक लाज को तज के
जनक दुलारी बन बन डोली, पहन के प्रेम की माला
दशर्न जल की प्यासी मीरा पी गई विष का प्याला
और फिर अरज करी के
लाज राखो राखो राखो, लाज राखो देखो देखो, 
लाज राखो राखो, हे हे हे, 
लाज राखो राखो, हे हे हे, 
लाज राखो राखो
ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़,  ये इश्क़ इश्क़ है इश्क़ इश्क़

अल्लाह रसूल का फ़रमान इश्क़ है
याने हफ़ीज़ इश्क़ है, क़ुरान इश्क़ है
गौतम का और मसीह का अरमान इश्क़ है
ये कायनात जिस्म है और जान इश्क़ है
इश्क़ सरमद, इश्क़ ही मंसूर है
इश्क़ मूसा, इश्क़ कोह-ए-नूर है
ख़ाक़ को बुत, और बुत को देवता करता है इश्क़
इन्तहा ये है के बंदे को ख़ुदा करता है इश्क़

हाँ इश्क़ इश्क़ तेरा इश्क़ इश्क़
तेरा इश्क़ इश्क़, इश्क़ इश्क़ ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

naa to kaaravaa.N kii talaash hai, naa to hamasafar kii talaash hai
mere shauq-e-khaanaa kharaab ko, terii rahaguzar kii talaash hai

mere naamuraad junuun kaa hai ilaaj koI to maut hai
jo davaa ke naam pe zahar de usii chaaraagar kii talaash hai

teraa ishq hai merii aarazuu, teraa ishq hai merii aabaruu
dil ishq jism ishq hai aur jaan ishq hai
Imaan kii jo puuchho to Imaan ishq hai
teraa ishq hai merii aarazuu, teraa ishq hai merii aabaruu,
teraa ishq mai.n kaise chho.D duu.N, merii umra bhar kii talaash hai

ishq ishq teraa ishq ishq ...

ye ishq ishq hai ishq ishq,  ye ishq ishq hai ishq ishq

jaa.Nsoz kii haalat ko jaa.Nsoz hii samajhegaa
mai.n shamaa se kahataa huu.N mahafil se nahii.n kahataa kyo.nki
ye ishq ishq hai ishq ishq,  ye ishq ishq hai ishq ishq

sahar tak sabakaa hai a.njaam jal kar khaak ho jaanaa,
bharii mahafil me.n koI shammaa yaa paravaanaa ho jAe kyo.nki
ye ishq ishq hai ishq ishq,  ye ishq ishq hai ishq ishq

vahashat-e-dil rasm-o-diidaar se rokii naa gaI
kisii kha.njar, kisii talavaar se rokii naa gaI
ishq majanuu kii vo aavaaz hai jisake aage
koI lailaa kisii diivaar se rokii naa gaI, kyo.nki
ye ishq ishq hai ishq ishq,  ye ishq ishq hai ishq ishq

vo ha.Nsake agar maa.Nge.n to ham jaan bhii dede.n,
haa.N ye jaan to kyaa chiiz hai Imaan bhii dede.n kyo.nki
ye ishq ishq hai ishq ishq,  ye ishq ishq hai ishq ishq

naaz-o-a.ndaaz se kahate hai.n ki jiinaa hogaa,
zahar bhii dete hai.n to kahate hai.n ki piinaa hogaa
jab mai.n piitaa huu.N to kahate.n hai ki marataa bhii nahii.n,
jab mai.n marataa huu.N to kahate hai.n ki jiinaa hogaa
ye ishq ishq hai ishq ishq,  ye ishq ishq hai ishq ishq

mazahab-e-ishq kii har rasm ka.Dii hotii hai,
har kadam par koI diivaar kha.Dii hotii hai
ishq aazaad hai, hi.nduu naa musalamaan hai ishq,
aap hii dhama.r hai aur aap hii Imaan hai ishq
jisase aagaah nahii shekh-o-barahaaman dono,
us haqiiqat kaa garajataa huA ailaan hai ishq

ishq naa puchchhe diin dharam nuu, ishq naa puchchhe jaataa.N
ishq de haatho.n garam lahuu vich, Dubiyaa.n lakh baraataa.N   
ke ... de ishq	
ye ishq ishq hai ishq ishq,  ye ishq ishq hai ishq ishq

raah ulfat kii kaThin hai ise aasaa.N naa samajh
ye ishq ishq hai ishq ishq,  ye ishq ishq hai ishq ishq

bahut kaThin hai Dagar panaghaT kii
ab kyaa bhar lAU.N mai jamunaa se maTakii
mai jo chalii jal jamunaa bharan ko
dekho sakhii jii mai jo chalii jal jamunaa bharan ko
na.ndakishor mohe roke jhaa.Do.n to
kyaa bhar lAU.N mai jamunaa se maTakii
ab laaj raakho more ghuu.NghaT paT kii

jab jab kR^ishhN kii ba.nsii baajii, nikalii raadhaa saj ke
jaan ajaan kaa maan bhulaa ke, lok laaj ko taj ke
janak dulaarii ban ban Dolii, pahan ke prem kii maalaa
dasha.rn jal kii pyaasii miiraa pii gaI vishh kaa pyaalaa
aur phir araj karii ke
laaj raakho raakho raakho, laaj raakho dekho dekho, 
laaj raakho raakho, he he he, 
laaj raakho raakho, he he he, 
laaj raakho raakho
ye ishq ishq hai ishq ishq,  ye ishq ishq hai ishq ishq

allaah rasuul kaa faramaan ishq hai
yaane hafiiz ishq hai, quraan ishq hai
gautam kaa aur masiih kaa aramaan ishq hai
ye kaayanaat jism hai aur jaan ishq hai
ishq saramad, ishq hii ma.nsuur hai
ishq muusaa, ishq koh-e-nuur hai
Kaaq ko but, aur but ko devataa karataa hai ishq
intahaa ye hai ke ba.nde ko Kudaa karataa hai ishq

haa.N ishq ishq teraa ishq ishq
teraa ishq ishq, ishq ishq ...