गाना / Title: दिल जो ना कह सका, वही राज़-ए-दिल, कहने की रात - dil jo naa kah sakaa, vahii raaz-e-dil, kahane kii raat

चित्रपट / Film: Bheegi Raat

संगीतकार / Music Director: Roshan

गीतकार / Lyricist: साहिर-(Sahir)

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



दिल जो ना कह सका
वोही राज़-ए-दिल कहने की रात आई
दिल जो ना कह सका

तौबा ये किस ने अंजुमन सजा के
टुकड़े किये हैं गुंच-ए-वफ़ा के - २
उछालो गुलों के टुकड़े
के रंगीं फ़िज़ाओं में रहने की रात आई
दिल जो ना कह सका

चलिये मुबारक ये जश्न दोस्ती का
दामन तो थामा आप ने किसी का - २
हमें तो खुशी यही है
तुम्हें भी किसी को अपना कहने की रात आई
दिल जो ना कह सका

सागर उठाओ दिल का किस को ग़म है
आज दिल की क़ीमत जाम से भी कम है - २
पियो चाहे खून-ए-दिल हो
के पीते पिलाते ही रहने की रात आई
दिल जो ना कह सका



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

dil jo naa kah sakaa
vohii raaz-e-dil kahane kii raat aaI
dil jo naa kah sakaa

taubaa ye kis ne a.njuman sajaa ke
Tuka.De kiye hai.n gu.ncha-e-vafaa ke - 2
uchhaalo gulo.n ke Tuka.De
ke ra.ngii.n fizaao.n me.n rahane kii raat aaI
dil jo naa kah sakaa

chaliye mubaarak ye jashn dostii kaa
daaman to thaamaa aap ne kisii kaa - 2
hame.n to khushii yahii hai
tumhe.n bhii kisii ko apanaa kahane kii raat aaI
dil jo naa kah sakaa

saagar uThaao dil kaa kis ko Gam hai
aaj dil kii qiimat jaam se bhii kam hai - 2
piyo chaahe khuun-e-dil ho
ke piite pilaate hii rahane kii raat aaI
dil jo naa kah sakaa