गाना / Title: अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं - apanii aazaadii ko ham haragiz miTaa sakate nahii.n

चित्रपट / Film: Leader

संगीतकार / Music Director: नौशाद अली-(Naushad)

गीतकार / Lyricist: Shakeel

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं

हमने सदियों में ये आज़ादी की नेमत पाई है
सैकड़ों क़ुरबानियाँ देकर ये दौलत पाई है
मुस्कराकर खाई हैं सीनों पे अपने गोलियाँ
कितने वीरानों से गुज़रे हैं तो जन्नत पाई है
ख़ाक में हम अपनी इज़्ज़त को मिला सकते नहीं

क्या चलेगी ज़ुल्म की अहले वफ़ा के सामने
जा नहीं सकता कोई शोला हवा के सामने
लाख फ़ौजें ले के आई अमन का दुश्मन कोई
रुक नहीं सकता हमारी एकता के सामने
हम वो पत्थर हैं जिसे दुश्मन हिला सकते नहीं

वक़्त की आज़ादी के हम साथ चलते जाएंगे
हर क़दम पर ज़िंदगी का रुख़ बदलते जाएंगे
गर वतन में भी मिलेगा कोई गद्दार-ए-वतन
अपनी ताक़त से हम उसका सर कुचलते जाएंगे
एक धोखा खा चुके हैं और खा सकते नहीं



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

apanii aazaadii ko ham haragiz miTaa sakate nahii.n
sar kaTaa sakate hai.n lekin sar jhukaa sakate nahii.n

hamane sadiyo.n me.n ye aazaadii kii nemat paaii hai
saika.Do.n qurabaaniyaa.N dekar ye daulat paaii hai
muskaraakar khaaii hai.n siino.n pe apane goliyaa.N
kitane viiraano.n se guzare hai.n to jannat paaii hai
Kaak me.n ham apanii izzat ko milaa sakate nahii.n

kyaa chalegii zulm kii ahale vafaa ke saamane
jaa nahii.n sakataa koii sholaa havaa ke saamane
laakh fauje.n le ke aaii aman kaa dushman koii
ruk nahii.n sakataa hamaarii ekataa ke saamane
ham vo patthar hai.n jise dushman hilaa sakate nahii.n

vaqt kii aazaadii ke ham saath chalate jaae.nge
har qadam par zi.ndagii kaa ruK badalate jaae.nge
gar vatan me.n bhii milegaa koI gaddaar-e-vatan
apanii taaqat se ham usakaa sar kuchalate jaae.nge
ek dhokhaa khaa chuke hai.n aur khaa sakate nahii.n