गाना / Title: आज की रात साज़-ए-दिल-ए-पुरदर्द न छेड़ - aaj kii raat saaz-e-dil-e-puradard na chhe.D

चित्रपट / Film: Jugnu

संगीतकार / Music Director: Firoz Nizami

गीतकार / Lyricist: Azir Sarhadi

गायक / Singer(s): Noorjehan

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



 
आज की रात साज़-ए-दिल-ए-पुरदर्द न छेड़
आज की रात...

क़ौल उलफ़त का जो हँस्ते हुए तरों ने सुना
बन्द कलियों ने सुना मस्त बहारों ने सुना
सब से छुप कर जिसे दो प्रेम के मारों ने सुना
ख़्वाब की बात समझ, उसको हक़ीक़त न बना
आज की रात...

अब हैं अरमानों पे छाए हुए बादिल काले
फूट कर रिसने लगे हैं मेरे दिल के छाले
आँख भर आई छलकने को हैं अब ये प्याले
मुस्कराएंगे मेरे हाल पे दुनियावाले
आज की रात...

बे-बसों पर ये सितिम ख़ूब ज़माने ने किया
खेल खेला था मुहब्बत का उधूरा ही रहा
हाए तक़दीर, के तक़दीर से पूरा न हुआ
ऐसे आनी थी जुदाई मुझे मालूम न था 
आज की रात...




        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

 
aaj kii raat saaz-e-dil-e-puradard na chhe.D
aaj kii raat...

qaul ulafat kaa jo ha.Nste hu_e taro.n ne sunaa
band kaliyo.n ne sunaa mast bahaaro.n ne sunaa
sab se chhup kar jise do prem ke maaro.n ne sunaa
Kwaab kii baat samajh, usako haqiiqat na banaa
aaj kii raat...

ab hai.n aramaano.n pe chhaa_e hu_e baadil kaale
phuuT kar risane lage hai.n mere dil ke chhaale
aa.Nkh bhar aaii chhalakane ko hai.n ab ye pyaale
muskaraae.nge mere haal pe duniyaavaale
aaj kii raat...

be-baso.n par ye sitim Kuub zamaane ne kiyaa
khel khelaa thaa muhabbat kaa udhuuraa hii rahaa
haae taqadiir, ke taqadiir se puuraa na hu_aa
aise aanii thii judaa_ii mujhe maaluum na thaa 
aaj kii raat...