गाना / Title: उन्हें भी राज़-ए-उल्फ़त की न होने दी ख़बर मैं ने - unhe.n bhii raaz-e-ulfat kii na hone dii Kabar mai.n ne

चित्रपट / Film: Natija

संगीतकार / Music Director: Rashid Atre

गीतकार / Lyricist: Nakshab

गायक / Singer(s): Zohrabai

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          




उन्हें भी राज़-ए-उल्फ़त की ना होने दी ख़बर मैं ने
नज़र मिल भी गई तो ख़ुद बचा ली है नज़र मैं ने

क़दम जब मैं ने रखा राह-ए-उल्फ़त में तो दुनिया ने
मुझे आवाज़ दी लेकिन ना देखा चौंक कर मैं ने

भला ग़ैरों से क्या मतलब जो मैं उन से गिल करता
शिकायत तुम से की है तुम को अपना जान कर मैं ने

कहाँ मैं और कहाँ दैर-ओ-हरम की कश्मकश नख़्शाब
किसी के नक़्श-ए-पा पर रख दिया जब आज सर मैं ने




        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      


unhe.n bhii raaz-e-ulfat kii naa hone dii Kabar mai.n ne
nazar mil bhii ga_ii to Kud bachaa lii hai nazar mai.n ne

qadam jab mai.n ne rakhaa raah-e-ulfat me.n to duniyaa ne
mujhe aavaaz dii lekin naa dekhaa chau.nk kar mai.n ne

bhalaa Gairo.n se kyaa matalab jo mai.n un se gila karataa
shikaayat tum se kii hai tum ko apanaa jaan kar mai.n ne

kahaa.N mai.n aur kahaa.N dair-o-haram kii kash_makash naKshaab
kisii ke naqsh-e-paa par rakh diyaa jab aaj sar mai.n ne