गाना / Title: मुसाफ़िर हूँ यारों, ना घर है ना ठिकान - musaafir huu.N yaaro.n, naa ghar hai naa Thikaana

चित्रपट / Film: Parichay

संगीतकार / Music Director: राहुलदेव बर्मन-(R D Burman)

गीतकार / Lyricist: गुलजार-(Gulzar)

गायक / Singer(s): किशोर कुमार-(Kishore Kumar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



मुसाफ़िर हूँ मैं यारों
ना घर है ना ठिकाना
मुझे चलते जाना है, बस, चलते जाना
मुसाफ़िर...

	एक राह रुक गई, तो और जुड़ गई
	मैं मुड़ा तो साथ-साथ, राह मुड़ गई
	हवा के परों पे, मेरा आशियाना
	मुसाफ़िर...

	दिन ने हाथ थाम के, इधर बिठा लिया
	रात ने इशारे से, उधर बुला लिया
	सुबह से शाम से मेरा, दोस्ताना
	मुसाफ़िर...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

musaafir huu.N mai.n yaaro.n
naa ghar hai naa Thikaanaa
mujhe chalate jaanaa hai, bas, chalate jaanaa
musaafir...

	ek raah ruk ga_ii, to aur ju.D gaI
	mai.n mu.Daa to saath-saath, raah mu.D gaI
	havaa ke paro.n pe, meraa aashiyaanaa
	musaafir...

	din ne haath thaam ke, idhar biThaa liyaa
	raat ne ishaare se, udhar bulaa liyaa
	subah se shaam se meraa, dostaanaa
	musaafir...