गाना / Title: ज़िंदा हूँ इस तरह कि ग़म-ए-ज़िन्दगी नहीं - zi.ndaa huu.N is tarah ki Gam-e-zindagii nahii.n

चित्रपट / Film: Aag

संगीतकार / Music Director: Ram Ganguly

गीतकार / Lyricist: Behzad Lucknowi

गायक / Singer(s): मुकेश-(Mukesh)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



ज़िंदा हूँ इस तरह कि ग़म-ए-ज़िन्दगी नहीं
जलता हुआ दिया हूँ मगर रोशनी नहीं
ज़िन्दा हूँ ...

वो मुद्दतें हुईं हैं किसीसे जुदा हुए
लेकिन ये दिल कि आग अभी तक बुझी नहीं
ज़िन्दा हूँ ...

आने को आ चुका था किनारा भी समने
खुद उसके पास ही मेरी नैय्या गई नहीं
ज़िन्दा हूँ ...

होंठों के पास आए हँसी, क्या मज़ाल है
दिल का मुआमला है कोई दिल्लगी नहीं
ज़िन्दा हूँ ...

ये चाँद ये हवा ये फ़िज़ा, सब हैं माद्मा
जो तू नहीं तो इन में कोई दिलकशी नहीं
ज़िन्दा हूँ ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

zi.ndaa huu.N is tarah ki Gam-e-zindagii nahii.n
jalataa huaa diyaa huu.N magar roshanii nahii.n
zindaa huu.N ...

vo muddate.n huI.n hai.n kisIse judaa hue
lekin ye dil ki aag abhii tak bujhii nahii.n
zindaa huu.N ...

aane ko aa chukaa thaa kinaaraa bhii samane
khud usake paas hii merii naiyyaa gaI nahii.n
zindaa huu.N ...

ho.nTho.n ke paas aae ha.Nsii, kyaa mazaal hai
dil kaa muaamalaa hai koii dillagii nahii.n
zindaa huu.N ...

ye chaa.Nd ye havaa ye fizaa, sab hai.n maad_maa
jo tuu nahii.n to in me.n koii dilakashii nahii.n
zindaa huu.N ...