गाना / Title: अपने रुख़ पे ... रुख़ से ज़रा नक़ाब उठा दो मेरे हुज़ूर - apane ruK pe ... ruK se zaraa naqaab uThaa do mere huzuur

चित्रपट / Film: Mere Huzoor

संगीतकार / Music Director: शंकर - जयकिशन-(Shankar-Jaikishan)

गीतकार / Lyricist: हसरत-(Hasrat)

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



अपने रुख पे निगाह करने दो
खूबसूरत गुनाह करने दो
रुख से पर्दा हटाओ जान-ए-हया
आज दिल को तबाह करने दो

रुख से ज़रा नक़ाब उठा दो, मेरे हुज़ूर
जल्वा फिर एक बार दिखा दो, मेरे हुज़ूर

तुम हमसफ़र मिले हो मुझे इस हयात में -२
मिल जाए चाँद जैसे कोई सूनी रात में
जागे तुम कहाँ ये बता दो, मेरे हुज़ूर
रुख से...

हुस्न-ओ-जमाल आपका शीशे में देख कर -२
मदहोष हो चुका हूँ मैं जलवों की राह पर
ग़र हो सके तो होश में ला दो, मेरे हुज़ूर
रुख से...

वो मर्मरी से हाथ वो महका हुआ बदन -२
टकराया मेरे दिल से, मुहब्बत का एक चमन
मेरे भी दिल का फूल खिला दो, मेरे हुज़ूर
रुख से...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

apane rukh pe nigaah karane do
khuubasuurat gunaah karane do
rukh se pardaa haTaao jaan-e-hayaa
aaj dil ko tabaah karane do

rukh se zaraa naqaab uThaa do, mere huzuur
jalvaa phir ek baar dikhaa do, mere huzuur

tum hamasafar mile ho mujhe is hayaat me.n -2
mil jaae chaa.Nd jaise koii suunii raat me.n
jaage tum kahaa.N ye bataa do, mere huzuur
rukh se...

husn-o-jamaal aapakaa shiishe me.n dekh kar -2
madahoshh ho chukaa huu.N mai.n jalavo.n kii raah par
Gar ho sake to hosh me.n laa do, mere huzuur
rukh se...

vo marmarii se haath vo mahakaa huaa badan -2
Takaraayaa mere dil se, muhabbat kaa ek chaman
mere bhii dil kaa phuul khilaa do, mere huzuur
rukh se...