गाना / Title: ये कौन सखी हैं ... छन छन छन छन - ye kaun sakhii hai.n ... chhan chhan chhan chhan

चित्रपट / Film: The One And Only Malika Pukraj (Non-Film)

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist:

गायक / Singer(s): Malika PukrajMale voice

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



Male voice\:	ये कौन सखी हैं
	जिनके लोहू की अशरफ़ियाँ
	छन छन छन छन

पु \:	ये कौन सखी हैं \-२
	जिनके लोहू की अशरफ़ियाँ
	छन छन
	छन छन छन छन
	ये कौन सखी हैं

Male voice\:	ये कौन सखी हैं
	जिनके लोहू की अशरफ़ियाँ
	छन छन छन छन

	धरती की पैहम प्यासी
	कशकोल में ढलती जाती है
	कशकोल को भरती जाति है
	छन छन छन छन

पु \:		धरती की पैहम प्यासी
	कशकोल में ढलती जाती है
	कशकोल को भरती जाति है
	छन छन
	छन छन छन छन
	ये कौन सखी हैं

Male voice\:	ये कौन जवाँ हैं अर्ज़\-ए\-वतन
	ये लख\-लुट जिनके जिसमों की
	भरपूर जवानी का कुंदन
	ज्यूँ ख़ाक में रेज़ा\-रेज़ा है
	ज्यूँ कूचे\-कूचे बिखरा है
	छन छन छन छन

पु \:		ये कौन जवाँ हैं अर्ज़\-ए\-वतन
	ये लख\-लुट जिनके जिसमों की
	भरपूर जवानी का कुंदन
	यूँ ख़ाक में रेज़ा\-रेज़ा है
	यूँ कूचे\-कूचे बिखरा है
	छन छन
	छन छन छन छन
	ये कौन सखी हैं

Male voice\:	ऐ अर्ज़\-ए\-वतन
	ऐ अर्ज़\-ए\-वतन
	क्यूँ नोंच के हँस\-हँस फेंक दिये
	इन आँखों ने अपने नीलम
	इन होंठों ने अपने मरजाँ
	इन हाथों की बेकल चाँदी
	किस काम आई किस हाथ लगी
	छन छन छन छन

पु \:		ऐ अर्ज़\-ए\-वतन
	ऐ अर्ज़\-ए\-वतन
	क्यूँ नोंच के हँस\-हँस फेंक दिये
	इन आँखों ने अपने नीलम
	इन होंठों ने अपने मरजाँ
	इन हाथों की बेकल चाँदी
	किस काम आई किस हाथ लगी
	छन छन
	छन छन छन छन
	ये कौन सखी हैं

Male voice\:	ऐ पूछने वाले परदेसी
	ऐ पूछने वाले परदेसी
	ये तिफ़्ल\-ओ\-जवाँ	
	उस नूर के नौरस मोती हैं
	उस आग की कच्ची कलियाँ हैं
	जिस मीठे नूर और कड़वी आग से
	ज़ुल्म की अंधी रात में फूटा
	सुबह\-ए\-बगावत का गुलशन
	और सुबहो हुई मन\-मन तन\-तन
	इन जिस्मों का चाँदी\-सोना
	इन चेहरों के नीलम मरजाँ
	जगमग\-जगमग रख़्साँ\-रख़्साँ
	जो देखना चाहे परदेसी
	पास आये देखे जी भर कर
	ये ज़ीस्त की रानी का झूमर
	ये अम्न की देवी का कंगन
	छन छन छन छन

पु \:		ऐ पूछने वाले परदेसी
	ये तिफ़्ल\-ओ\-जवाँ	
	उस नूर के नौरस मोती हैं
	उस आग की कच्ची कलियाँ हैं
	जिस मीठे नूर और कड़वी आग से
	ज़ुल्म की अंधी रात में फूटा
	सुबह\-ए\-बगावत का गुलशन
	और सुबहो हुई मन\-मन तन\-तन
	इन जिस्मों का चाँदी\-सोना

	इन चेहरों के नीलम मरजाँ
	जगमग\-जगमग रख़्साँ\-रख़्साँ
	जगमग\-जगमग रख़्साँ\-रख़्साँ
	जो देखना चाहे परदेसी
	पास आये देखे जी भर कर
	ये ज़ीस्त की रानी का झूमर
	ये अम्न की देवी का कंगन
	छन छन
	छन छन छन छन
	ये कौन सखी हैं



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

##Male voice## \:	ye kaun sakhii hai.n
	jinake lohuu kii asharafiyaa.N
	chhan chhan chhan chhan

pu \:	ye kaun sakhii hai.n \-2
	jinake lohuu kii asharafiyaa.N
	chhan chhan
	chhan chhan chhan chhan
	ye kaun sakhii hai.n

##Male voice## \:	ye kaun sakhii hai.n
	jinake lohuu kii asharafiyaa.N
	chhan chhan chhan chhan

	dharatii kii paiham pyaasii
	kashakol me.n Dhalatii jaatii hai
	kashakol ko bharatii jaati hai
	chhan chhan chhan chhan

pu \:		dharatii kii paiham pyaasii
	kashakol me.n Dhalatii jaatii hai
	kashakol ko bharatii jaati hai
	chhan chhan
	chhan chhan chhan chhan
	ye kaun sakhii hai.n

##Male voice## \:	ye kaun jawaa.N hai.n arz\-e\-watan
	ye lakh\-luT jinake jisamo.n kii
	bharapuur jawaanii kaa ku.ndan
	jyuu.N Kaak me.n rezaa\-rezaa hai
	jyuu.N kuuche\-kuuche bikharaa hai
	chhan chhan chhan chhan

pu \:		ye kaun jawaa.N hai.n arz\-e\-watan
	ye lakh\-luT jinake jisamo.n kii
	bharapuur jawaanii kaa ku.ndan
	yuu.N Kaak me.n rezaa\-rezaa hai
	yuu.N kuuche\-kuuche bikharaa hai
	chhan chhan
	chhan chhan chhan chhan
	ye kaun sakhii hai.n

##Male voice## \:	ai arz\-e\-watan
	ai arz\-e\-watan
	kyuu.N no.nch ke ha.Ns\-ha.Ns phe.nk diye
	in aa.Nkho.n ne apane niilam
	in ho.nTho.n ne apane marajaa.N
	in haatho.n kii bekal chaa.Ndii
	kis kaam aa_ii kis haath lagii
	chhan chhan chhan chhan

pu \:		ai arz\-e\-watan
	ai arz\-e\-watan
	kyuu.N no.nch ke ha.Ns\-ha.Ns phe.nk diye
	in aa.Nkho.n ne apane niilam
	in ho.nTho.n ne apane marajaa.N
	in haatho.n kii bekal chaa.Ndii
	kis kaam aa_ii kis haath lagii
	chhan chhan
	chhan chhan chhan chhan
	ye kaun sakhii hai.n

##Male voice## \:	ai puuchhane waale paradesii
	ai puuchhane waale paradesii
	ye tifl\-o\-jawaa.N	
	us nuur ke nauras motii hai.n
	us aag kii kachchii kaliyaa.N hai.n
	jis miiThe nuur aur ka.Dawii aag se
	zulm kii a.ndhii raat me.n phuuTaa
	subah\-e\-bagaawat kaa gulashan
	aur subaho hu_ii man\-man tan\-tan
	in jismo.n kaa chaa.Ndii\-sonaa
	in cheharo.n ke niilam marajaa.N
	jagamag\-jagamag raKsaa.N\-raKsaa.N
	jo dekhanaa chaahe paradesii
	paas aaye dekhe jii bhar kar
	ye ziist kii raanii kaa jhuumar
	ye amn kii devii kaa ka.ngan
	chhan chhan chhan chhan

pu \:		ai puuchhane waale paradesii
	ye tifl\-o\-jawaa.N	
	us nuur ke nauras motii hai.n
	us aag kii kachchii kaliyaa.N hai.n
	jis miiThe nuur aur ka.Dawii aag se
	zulm kii a.ndhii raat me.n phuuTaa
	subah\-e\-bagaawat kaa gulashan
	aur subaho hu_ii man\-man tan\-tan
	in jismo.n kaa chaa.Ndii\-sonaa

	in cheharo.n ke niilam marajaa.N
	jagamag\-jagamag raKsaa.N\-raKsaa.N
	jagamag\-jagamag raKsaa.N\-raKsaa.N
	jo dekhanaa chaahe paradesii
	paas aaye dekhe jii bhar kar
	ye ziist kii raanii kaa jhuumar
	ye amn kii devii kaa ka.ngan
	chhan chhan
	chhan chhan chhan chhan
	ye kaun sakhii hai.n