गाना / Title: ये कहाँ आ गये हम यूँही साथ साथ चलते - ye kahaa.N aa gaye ham yuu.Nhii saath saath chalate

चित्रपट / Film: Silsila

संगीतकार / Music Director: Shiv-Hari

गीतकार / Lyricist: जावेद अख्तर-(Javed Akhtar)

गायक / Singer(s): अमिताभ बच्चन-(Amitabh Bachchan)लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



अमिताभ:
मैं और मेरी तन्हाई, अक्सर ये बातें करते हैं
तुम होती तो कैसा होता, तुम ये कहती, तुम वो कहती 
तुम इस बात पे हैरां होती, तुम उस बात पे कितनी हँसती 
तुम होती तो ऐसा होता, तुम होती तो वैसा होता 
मैं और मेरी तन्हाई, अक्सर ये बातें करते हैं 
रू रू ...

लता: 
ये कहाँ आ गये हम,  यूँही साथ साथ चलते  
तेरी बाहों में है जानम, मेरे जिस्म\-ओ\-जान पिघलते \- २

अमिताभ:
ये रात है, या तुम्हारी ज़ुल्फ़ें खुली हुई हैं
है चाँदनी तुम्हारी नज़रों से, मेरी राते धुली हुई हैं
ये चाँद है, या तुम्हारा कँगन 
सितारे हैं या तुम्हारा आँचल
हवा का झोंका है, या तुम्हारे बदन की खुशबू 
ये पत्तियों की है सरसराहट 
के तुमने चुपके से कुछ कहा 
ये सोचता हूँ मैं कबसे गुमसुम
कि जबकी मुझको भी ये खबर है
कि तुम नहीं हो, कहीं नहीं हो
मगर ये दिल है कि कह रहा है
तुम यहीं हो, यहीं कहीं हो  

लता: 
तू बदन है मैं हूँ साया, तू ना हो तो मैं कहाँ हूँ 
मुझे प्यार करने वाले, तू जहाँ है मैं वहाँ हूँ 
हमें मिलना ही था हमदम, इसी राह पे निकलते 
ये कहाँ आ गये हम 

मेरी साँस साँस महके, कोई भीना भीना चन्दन
तेरा प्यार चाँदनी है, मेरा दिल है जैसे आँगन 
कोइ और भी मुलायम,  (मेरी शाम ढलते ढलते \- २) 
ये कहाँ आ गये हम 

अमिताभ:
मजबूर ये हालात, इधर भी है उधर भी 
तन्हाई के ये रात, इधर भी है उधर भी 
कहने को बहुत कुछ है, मगर किससे कहें हम 
कब तक यूँही खामोश रहें, और सहें हम 
दिल कहता है दुनिया की हर इक रस्म उठा दें 
दीवार जो हम दोनो में है, आज गिरा दें 
क्यों दिल में सुलगते रहें, लोगों को बता दें 
हां हमको मुहब्बत है, मोहब्बत है, मोहब्बत है 
अब दिल में यही बात, इधर भी है, उधर भी 

लता: 
ये कहाँ आ गये हम, ये कहाँ आ गये हम 



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

amitaabh:
mai.n aur merI tanhaaii, aksar ye baate.n karate hai.n
tum hotii to kaisaa hotaa, tum ye kahatii, tum vo kahatii 
tum is baat pe hairaa.n hotii, tum us baat pe kitanii ha.Nsatii 
tum hotii to aisaa hotaa, tum hotii to vaisaa hotaa 
mai.n aur merii tanhaaii, aksar ye baate.n karate hai.n 
ruu ruu ...

lataa: 
ye kahaa.N aa gaye ham,  yuu.Nhii saath saath chalate  
terii baaho.n me.n hai jaanam, mere jism\-o\-jaan pighalate \- 2

amitaabh:
ye raat hai, yaa tumhaarii zulfe.n khulii huii hai.n
hai chaa.Ndanii tumhaarii nazaro.n se, merI raate dhulii huii hai.n
ye chaa.Nd hai, yaa tumhaaraa ka.Ngan 
sitaare hai.n yaa tumhaaraa aa.Nchal
havaa kaa jho.nkaa hai, yaa tumhaare badan kii khushabuu 
ye pattiyo.n kii hai sarasaraahaT 
ke tumane chupake se kuchh kahaa 
ye sochataa huu.N mai.n kabase gumasum
ki jabakii mujhako bhii ye khabar hai
ki tum nahii.n ho, kahii.n nahii.n ho
magar ye dil hai ki kah rahaa hai
tum yahii.n ho, yahii.n kahii.n ho  

lataa: 
tuu badan hai mai.n huu.N saayaa, tU nA ho to mai.n kahaa.N huu.N 
mujhe pyaar karane vaale, tuu jahaa.N hai mai.n vahaa.N huu.N 
hame.n milanaa hii thaa hamadam, isii raah pe nikalate 
ye kahaa.N aa gaye ham 

merI saa.Ns saa.Ns mahake, koI bhiinaa bhiinaa chandan
terA pyaar chaa.Ndanii hai, meraa dil hai jaise aa.Ngan 
koi aur bhI mulaayam,  (merI shaam Dhalate Dhalate \- 2) 
ye kahaa.N aa gaye ham 

amitaabh:
majabuur ye haalaat, idhar bhI hai udhar bhii 
tanhaaii ke ye raat, idhar bhI hai udhar bhii 
kahane ko bahut kuchh hai, magar kisase kahe.n ham 
kab tak yuu.Nhii khaamosh rahe.n, aur sahe.n ham 
dil kahataa hai duniyaa kii har ik rasm uThaa de.n 
diivaar jo ham dono me.n hai, aaj giraa de.n 
kyo.n dil me.n sulagate rahe.n, logo.n ko bataa de.n 
haa.n hamako muhabbat hai, mohabbat hai, mohabbat hai 
ab dil me.n yahii baat, idhar bhI hai, udhar bhii 

lataa: 
ye kahaa.N aa gaye ham, ye kahaa.N aa gaye ham