गाना / Title: हम इंतज़ार करेंगे, तेरा क़यामत तक - ham i.ntazaar kare.nge, teraa qayaamat tak

चित्रपट / Film: Bahu Begum

संगीतकार / Music Director: Roshan

गीतकार / Lyricist: मजरूह सुलतान पुरी-(Majrooh)

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



हम इंतज़ार करेंगे (२) क़यामत तक
खुदा करे कि क़यामत हो, और तू आए (२)
हम इंतज़ार करेंगे ...

न देंगे हम तुझे इलज़ाम बेवफ़ाई का
मगर गिला तो करेंगे तेरी जुदाई का
तेरे खिलाफ़ शिकायत हो (२) और तू आए
खुदा करे के कयामत हो, और तू आए
हम इंतज़ार करेंगे ...

ये ज़िंदगी तेरे कदमों में डाल जाएंगे
तुझी को तेरी अमानत सम्भाल जाएंगे
हमारा आलम-ए-रुखसत हो (२) और तू आए

बुझी-बुझी सी नज़र में तेरी तलाश लिये
भटकते फिरते हैं हम आज अपनी लाश लिये
यही ज़ुनून यही वहशत हो (२) और तू आए

Duet Version 
(लता:)
हम इंतज़ार करेंगे 
हम इंतज़ार करेंगे तेरा क़यामत तक
ख़ुदा करे कि क़यामत हो, और तू आए -२
हम इंतज़ार करेंगे...

ये इंतज़ार भी एक इम्तिहां होता है
इसीसे इश्क़ का शोला जवां होता है
ये इंतज़ार सलामत हो 
ये इंतज़ार सलामत हो और तू आए
ख़ुदा करे कि क़यामत हो, और तू आए
हम इंतज़ार करेंगे...

बिछाए शौक़ से, ख़ुद बेवफ़ा की राहों में
खड़े हैं दीप की हसरत लिए निगाहों में
क़बूल-ए-दिल की इबादत हो
क़बूल-ए-दिल की इबादत हो और तू आए
ख़ुदा करे कि क़यामत हो, और तू आए
हम इंतज़ार करेंगे...

(रफ़ी:)
वो ख़ुशनसीब है जिसको तू इंतख़ाब करे
ख़ुदा हमारी मोहब्बत को क़ामयाब करे
जवां सितारा-ए-क़िस्मत हो
जवां सितारा-ए-क़िस्मत हो और तू आए

(लता:)
ख़ुदा करे कि क़यामत हो, और तू आए
हम इंतज़ार करेंगे...




        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

ham i.ntazaar kare.nge (2) qayaamat tak
khudaa kare ki qayaamat ho, aur tuu aae (2)
ham i.ntazaar kare.nge ...

na de.nge ham tujhe ilazaam bevafaaI kaa
magar gilaa to kare.nge terii judaaI kaa
tere khilaaf shikaayat ho (2) aur tuu aae
khudaa kare ke kayaamat ho, aur tuu aae
ham i.ntazaar kare.nge ...

ye zi.ndagii tere kadamo.n me.n Daal jaae.nge
tujhii ko terii amaanat sambhaal jaae.nge
hamaaraa aalam-e-rukhasat ho (2) aur tuu aae

bujhii-bujhii sii nazar me.n terii talaash liye
bhaTakate phirate hai.n ham aaj apanii laash liye
yahii zunuun yahii vahashat ho (2) aur tuu aae

## Duet Version ##
(lataa:)
ham i.ntazaar kare.nge 
ham i.ntazaar kare.nge teraa qayaamat tak
Kudaa kare ki qayaamat ho, aur tuu aae -2
ham i.ntazaar kare.nge...

ye i.ntazaar bhii ek imtihaa.n hotaa hai
isiise ishq kaa sholaa javaa.n hotaa hai
ye i.ntazaar salaamat ho 
ye i.ntazaar salaamat ho aur tuu aae
Kudaa kare ki qayaamat ho, aur tuu aae
ham i.ntazaar kare.nge...

bichhaae shauq se, Kud bevafaa kii raaho.n me.n
kha.De hai.n diip kii hasarat li_e nigaaho.n me.n
qabuul-e-dil kii ibaadat ho
qabuul-e-dil kii ibaadat ho aur tuu aae
Kudaa kare ki qayaamat ho, aur tuu aae
ham i.ntazaar kare.nge...

(rafii:)
vo Kushanasiib hai jisako tuu i.ntaKaab kare
Kudaa hamaarii mohabbat ko qaamayaab kare
javaa.n sitaaraa-e-qismat ho
javaa.n sitaaraa-e-qismat ho aur tuu aae

(lataa:)
Kudaa kare ki qayaamat ho, aur tuu aae
ham i.ntazaar kare.nge...